समाज को झंझोर देने वाले विषय पर बनी फिल्म 'हिंदी मीडियम', देखने से पहले पढ़ ले रिव्यु !



स्टारकास्ट- इरफान खान, सबा कमर, दीपक डोबरियाल, अमृता सिंह
डायेरक्टर- साकेत चौधरी
रेटिंग- **** (चार स्टार)
जॉनर:  ड्रामा

बॉलीवुड फिल्म 'हिंदी मीडियम' आज सिनेमाघरो में रिलीज हो रही है और इस फिल्म के ट्रेलर को देख कर सबको पता तो चल ही गया है की ये फिल्म हमारे समाज में होने वाले ऐसे विषय पर बनी फिल्म जिसमे एक गंभीर विषय पर फिल्मया गया है इस देश में अंग्रेजी सिर्फ ज़ुबान नहीं क्लास है…एक एक पैरेंट्स की कहानी है इस फिल्म में आज रिलीज हुई फिल्म ‘हिंदी मीडियम’ जिसे बड़े ही इंटरटेनिंग अंदाज में दिखाई गई है ये फिल्म में Right To Education Act (शिक्षा का अधिकार, 2009) के उस मुद्दे को उठाती है
loading...


  • फिल्म की कहानी एक पुरानी दिल्ली में रहने वाले राज बत्रा की है राज (इरफान) की चांदनी चौक में कपड़ों की दुकान है उनकी दुकान बहुत अच्‍छी चल रही है। खासकर इसलिए कि वो नामी डिजाइनर्स की ‘ऑरिजनल कॉपी’ बेचते हैं। इन साहब की पत्‍नी है मिट्ठु (सबा) हैं। व‍ह अपनी बेटी पिया (दिशि‍ता सहगल) का एडमिशन एक हाई-फाई इंग्‍ल‍िश मीडियम स्‍कूल में करवाना चाहती है।
  •  मिट्ठु इसके लिए परिवार के लाइफस्‍टाइल को ‘अंग्रेजी मीडियम’ बनाने में जुटी है जब ऐसे बात नहीं बनती है तब वो गरीब कोटा से एडमिशन लेने की ठानते हैं और गरीब बनने का ढ़ोंग करते हैं।उनकी मुलाकात श्याम प्रकाश से होती है जो खुद अपने बेटे को गरीब कोटा से एडमिशन दिलाना चाहता है यहां से शुरू होती है कहानी फिल्म की 
  • जब उसे पता चलता है कि उसने अपने ही दोस्त श्याम के बच्चे का हक छीन लिया है तो उसे अपनी गलती का एहसास होता है। लेकिन क्या वो अपनी गलती सुधारने के लिए कुछ करता है? छोटे स्कूल के बच्चे भी उतने ही टैलेंटेड होते हैं जितने की अमीर बच्चे… ये साबित करने के लिए राज क्या करता है? क्या उसकी वजह से अमीर लोगों की सोच बदल पाएगी? यही फिल्म का क्लाइमैक्स है। 
  • रोल की बात करे तो चाहें कोई भी रोल इरफान खान उसमें खुद को ढ़ाल लेते हैं इस फिल्म में भी उन्होंने एक-एक सीन में जान डाल दी है और कॉमिक टाइमिंग की बात तो कुछ और ही है 

देखे फिल्म की एक झलक :-  




Previous
Next Post »

BUSINESS

loading...
loading...